Mukhyamantri Yuva Swarozgar Yojana in hindi

Mukhyamantri Yuva Swarozgar Yojana in Hindi

Here you will find the most essential information about the Mukhyamantri Yuva Swarozgar Yojana In Hindi.

What is Mukhyamantri Yuva Swarozgar Yojana In Hindi ?

क्या है मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना ?

इस  योजना को , 1 अगस्त को मध्य प्रदेश में शरु  किया गया है, ये एक वित्तीय सहायता योजना है। इस सरकारी योजना से लोग अपने अपने छोटे व्यवसाय सेटअप(शरू) करने के लिए बैंकों ऋण में सरकार द्वारा सहायता प्राप्त कर सकते है । इस योजना के तहत सरकार मार्जिन मनी सहायता, ब्याज सब्सिडी, ऋण गारंटी और प्रशिक्षण लाभार्थियों को प्रदान करता है। मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना का मुख्य उद्देश्य मध्य प्रदेश में उद्यमशीलता, बिज़नस, व्यवसाय को बढ़ावा देने है।

What are Eligibility Criteria for Mukhyamantri Yuva Swarozgar Yojana In Hindi ?

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के लिए पात्रता मापदंड क्या है ?

  1. केवल राज्य के स्थायी निवासी इस योजना का लाभ उठाने के पात्र हैं।
  2. आवेदक को कम से कम 5 वीं कक्षा पारित/पास होना चाहिए।
  3. आवेदक की आयु 18 से 45 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
  4. आवेदक को राष्ट्रीयकृत या निजी क्षेत्र के बैंकों में से किसी ने भी डिफॉल्टर घोषित नहीं किया गया जाना चाहिए।
  5. आवेदक पहले अन्य किसी भी राज्य में चलने वाली योजनाओं के तहत सहायता प्राप्त नही किया जाना चाहिए।
  6. यह योजना केवल उद्योग / सेवा कंपनी / व्यवसाय स्थापित करने के लिए उपलब्ध है।

Financial Assistance Under this yojana-

इस योजना के तहत कितनी वित्तीय सहायता प्रदान किया जायेगा ?

  1. इस सरकारी योजना के तहत परियोजना लागत 20 हजार से 10 लाख रुपये के बीच होना चाहिए। ।
  2. सरकार 7 साल तक परियोजना की लागत पर प्रति वर्ष के 5% (अधिकतम 25हजार ) की दर से ब्याज अनुदान देगा।
  3. गारंटी शुल्क 7 साल के लिए वर्तमान दर पर भुगतान किया जाएगा।
  4. राज्य सरकार ने मार्जिन मनी या अधिकतम 10000 रुपए के रूप में परियोजना लागत का 20% प्रदान करेगा।

How to apply for this scheme ?

कैसे मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के लिए आवेदन करे ?

  1. आपके लिए आवेदन फार्म संबंधित जिला कार्यालय में मुक्त उपलब्ध हैं।
  2. आवेदन पत्रों की समीक्षा की जाएगी और सफल आवदेन को बुलाया जायेगा।
  3. आवेदकों को आवेदन पत्र के साथ प्रस्तावित परियोजना के सामान्य परियोजना रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए आवश्यक हैं।
  4. आवेदन पत्र तो संबंधित विभाग इस योजना के तहत निर्वाचित की चयन समिति के समक्ष प्रस्तुत किया जाएगा।
  5. गैर-पात्र आवेदन पत्र खारिज कर दिया जाएगा।
  6. ऋण आवेदन की स्वीकृति के बाद 15 दिनों के भीतर ऋण वितरित किया जाएगा।
  7. ऋण वितरण के बाद आवेदकों को सरकार द्वारा अपने उद्योग / व्यापारों के विकास के लिए प्रशिक्षण दिया जाएगा।

Read Here

Anupurna akshaypatra yojana

Aashish Srivastava

Aashish Srivastava is passionate about writing and is the editor-in-chief of various websites. A nerd and sentimental pulse, he enjoys music and travelling. A big fan of Sachin Tendulkar . He is a great listener who loves observing people.